गिनती १२:१-१६

Yuhanna 5
Spread the love

प्रभू की स्तुति हो!

Advertisement

“धर्मी पर बहुत सी विपत्तियां पड़ती तो हैं, परन्तु यहोवा उसको उन सब से मुक्त करता है।” आमेन
(भजन संहिता ३४:१९)

आज का वचन एक स्मरणपत्र और चेतावनी है ताकि हम अपने शब्दों और अपने विचारों के माध्यम से परमेश्वर के खिलाफ पाप न करें। विशेष रूप से बोलने से पहले सोचने के लिए बहुत सावधान रहें यदि आप परमेश्वर के दास के बारे में बोलते हैं तो यह आपको पाप के रूप में लगाया जाएगा। यह लिखने का कारण यह है कि हमारी व्यक्तिगत कुंठाओं में हम मार्ग से हट जाते हैं और राज्य में सेवा करने वाले लोगों सहित सभी को दोष देते हैं। कभी भी परमेश्वर के अभिषिक्त के खिलाफ कभी भी टिप्पणी न करें या कुछ भी न बोलें क्योंकि परमेश्वर आपको पकड़ लेंगे। आप न्याय नहीं करेंगे आपके लिए न्याय किया जाएगा।
यह एक सीख और हम सभी के लिए एक सबक है कि हम अभी भी अपने मुंह को ढँक कर रखें।

यह वचन मुझे पिछले सप्ताह प्रभु ने दिया था और मैंने पूछा कि परमेश्वर यह क्या है और मुझे अपनी आत्मा में पता था कि हम परमेश्वर के लोग इस क्षेत्र में कम हो गए हैं। हमने पाप किया है। (हमें क्षमा करें प्रभु)
जैसे हारून और मिरियम का मूसा के साथ मतभेद था, क्योंकि उसने इथियोपिया की महिला से शादी की थी, उस समय तक यह ठीक था, लेकिन जिस मिनट उन्होंने कहा * “क्या वास्तव में प्रभु केवल मूसा के माध्यम से बात करते है? क्या उसने हमारे माध्यम से भी बात नहीं की है? ”* इसने प्रभु का ध्यान आकर्षित किया और उसने इसे सुना और वचन ४ में कहते हैं – अचानक प्रभु ने मूसा हारून और मरियम से कहा“ तुम तीनों मिलकर तम्बू में आओ ”

पहली बात यह है कि जब कोई अनुचित शब्द बोला जाता है तो परमेश्वर उसे सुनता है। परमेश्वर घमंड को एक हद तक सहन करता है, हालांकि यह उसकी दृष्टि में बुराई है, लेकिन आत्मिक घमंड वह एक पल के लिए भी बर्दाश्त नहीं करता है।
इसलिए यदि आप एक झूठ बोलने वाले व्यक्ति या सेवक हैं या परमेश्वर के राज्य में सेवा कर रहे हैं और किसी अभिषिक्‍त सेवक या परमेश्वर के दास के साथ किसी बात पर आपकी असहमति है, तो इस बात पर नियंत्रण ज़रूर रखें कि आपका हृदय क्या सोचता है और आप क्या कहते हैं। यीशु ने कहा कि आपके हृदय की बहुतायत में से आपका मुंह बोलता है और यह उस मुंह से निकलता है जो एक आदमी को अशुद्ध करता है।

Ginati 12
Ginati 12

हारून और मिरियम ने अपने ह्रदयों में सोचा …. कि क्या परमेश्वर केवल मूसा से बात करता है क्या उसने हमसे भी बात नहीं की है? यह आत्मिक घमंड की बात थी और प्रभु ऐसे विचारों की पूरी तरह से घृणा करता है। कभी भी अपने आत्मिक स्तर की दूसरे के साथ तुलना न करें और सोचें कि आप एक हैं क्योंकि परमेश्वर इस की सराहना नहीं करते हैं।
अब इस सब में मूसा अपने सेवक के बारे में परमेश्वर की गवाही क्या है [संदर्भ वचन ३] मूसा बहुत विनम्र था, पृथ्वी पर रहने वाले किसी भी आदमी से ज्यादा।

परमेश्वर का वचन कहेता है
(नीतिवचन- ३०:५-६)
क्योंकि परमेश्वर का प्रत्येक वचन सत्य है और हम परमेश्वर के वचन के खिलाफ प्रबल नहीं हो सकते, वह उन लोगों के लिए एक कवच है जो उस पर भरोसा करते हैं।

एक पल के लिए हारून और मिरियम ने अपनी-अपनी धार्मिकता में विश्वास किया कि वे मूसा के बराबर या उससे बेहतर हैं, इसलिए हम देखते हैं कि मूसा के बारे में परमेश्वर की गवाही उनके लिए एक ढाल बन गई। और परमेश्वर ने मूसा और मरियम से पूछा कि क्या तुम मेरे दास के खिलाफ बोलने से डरते हो जो मुझे मेरे सारे भवन में विश्वासयोग्य रहकर सेवा देता है? कृपया इन वचनों को चिह्नित करें … विश्वासयोग्य रहकर और मेरे सभी भवन में। और फिर मूसा और मरियम की आंखें खुल गईं और हारून मूसा के पास गया ताकि मूसा उनके लिए मध्यस्ति करे।

इस मामले का मर्म यह है कि परमेश्वर के अभिषिक्त के खिलाफ किसी भी और सभी व्यक्तिगत न्याय से बचना चाहिए, यह आप पर परमेश्वर के न्याय को लाएगा। इन बातों से सावधान रहें कि आप अपने हृदय में क्या बोलते हैं, यहां तक ​​कि लूसिफ़ेर ने भी अपने हृदय में यही सोचा था और खुद को बाहर निकाल दिया और वह स्वर्ग से नीचे गिर गया। अपने विचारों से सावधान रहें और तुरंत अपनी आत्मा को इस तरह की बुराई से मुक्त होने दें जिससे आप गिरते हैं और अपने जीवन पर परमेश्वर के क्रोध को आमंत्रित करते हैं। आमेन

प्रार्थना: परमेश्वर आज के वचन और इस क्षेत्र में हम जो पाप करते हैं, उसके लिए हमारी आँखें खोलने के लिए धन्यवाद। अपने लोगों के रूप में आप हमेशा हमें अपनी त्रुटियों को दिखाने के तरीके खोजते हैं और हमारे पथों को सीधा करते हैं कि हम अब पाप में नहीं चल सकते हैं, लेकिन अपने तरीकों से मुड़कर आपको हमारे सभी रास्तों में स्वीकार करते हैं। मैं इस दिन प्रार्थना करता हूं कि आप हमारे हृदय से अधर्म को मिटा दे और हमें आपकी सेवा करने के लिए सक्षम कर दे और आपके साथ चल सकते हैं, केवल हमें हमारे प्रभु और उद्धारकर्ता द्वारा यीशु द्वारा दिए गए धार्मिकता के अनुसार, हम मसीह का मन हो सकते हैं और इससे पहले कि हम छलांग लगाएं किसी भी निष्कर्ष पर। पिता इस दिन हमें बचाते हैं कि हम पाप में न पड़ें, लेकिन सच्चाई में चलने के लिए आपकी दया और प्रेममयी कृपा से आच्छादित हों और आपके साथ हमारे जीवन के सभी दिनों में। यीशु के नाम मे। आमेन

प्रभु आशिषित करे
पासवान ओवेन

मत्ती-४:४ – उस ने उत्तर दिया; कि लिखा है कि मनुष्य केवल रोटी ही से नहीं, परन्तु हर एक वचन से जो परमेश्वर के मुख से निकलता है जीवित रहेगा

Psalm 91

समर्पण थोरात

यीशु मसीह

क्रिसमस डे क्यों मनाय जाता है

हिंदी बाइबिल स्टडी


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *