मरकुस १४:३८

Markus 14
Spread the love

मरकुस १४:३८

स्वर्ग से रोटी आज का भविष्यवाणी वचन मरकुस १४:३८

जागते और प्रार्थना करते रहो कि तुम परीक्षा में न पड़ो: आत्मा तो तैयार है, पर शरीर दुर्बल है।

मरकुस १४:३८

Markus 14
Markus 14

आज का वचन हम सब के लिए बहुत खास है जो मरकुस की किताब अध्याय१४ औऱ वचन ३८ है।

अपने शिष्य पतरस के लिए यीशु के शब्द गतसमनी के बाग में परीक्षण के दौरान।
* देखो और प्रार्थना करो, ऐसा न हो कि तुम प्रलोभन में प्रवेश करो। आत्मा तैयार है, लेकिन देह कमजोर है। “*

ये वचन हममें से हर एक के लिए हैं, जो परमेश्वर के एकलौते पुत्र पर विश्वास करते हैं क्योंकि समय निकट है, कई परीक्षण इस दुनिया द्वारा वहन किए जाने हैं और हमें प्रार्थना में खुद को मजबूत करके तैयार करना है।

यह वचन आत्मा की चाल से आप में से प्रत्येक को व्यक्तिगत रूप से बात कर रहा है। प्रार्थना करें कि आप सहन कर सकें और थकावट के शिकार न हों और नींद में ना रहें, बल्कि ऐसे समय के प्रति सतर्क रहें जब हम यह जान लें कि प्रभु जल्द ही आ रहे हैं। प्रभु ने मुझसे कहा है कि तुम्हे आत्मा में अपने लिए प्रार्थना करने के लिए कहो और परमेश्वर से प्रत्येक विश्वासी की शांति में अपने अपने परीक्षणों से गुजरने में मदद करने के लिए कहो, यह जानते हुए कि परमेश्वर आपको उन सभी से मुक्ति दिलाएगा। जैसा कि हम परिष्कृत आग के माध्यम से योग्य और परमेश्वर के लिए प्रस्तुत करने योग्य और स्वीकार्य होना चाहिए। परमेश्वर से बात किए बिना या परमेश्वर के साथ रोजाना जुड़ने से हमारे पास सामना करने की ताकत नहीं होगी क्योंकि यह सच है कि यह वचन कहता है कि हमारी आत्मा तैयार है लेकिन हमारा देह कमजोर है। इसलिए हमें अपने स्वर्गीय पिता से अपने पुत्र यीशु के नाम में प्रार्थना करने की ज़रूरत है ताकि हम अपनी आत्मा और अपने देह (मानवता) में हमें मज़बूत बना सकें। यीशु ने कहा कि जो लोग मेरा अनुसरण करना चाहते हैं, उन्हें प्रतिदिन अपना क्रूस उठाकर चलना होगा। इसका अर्थ है अपने बोझों को स्वेच्छा से ले जाना और परमेश्वर से यह प्रार्थना करना की सामर्थ दे बजाय कि आप से दूर हो जाए। (जैसा कि हम सभी प्रार्थना करते हैं कि हमारी परेशानी खत्म हो जाए)। यह समझना महत्वपूर्ण है कि हमे प्रार्थना करना चाहिए और परमेश्वर से हमें भागने के बजाय आग से गुजरने के लिए धीरज के साथ आशीष देने के लिए मांगना हैं। याद रखें कि जब आपकी व्यक्तिगत आग सबसे गर्म होती है, तो आप देखेंगे कि परमेश्वर आपके लिए उनमें कदम रखेंगे। इजरायल को मिस्र की भट्टी से गुजरना पड़ा और विजयी हुआ।
यूसुफ को अपने भाइयों द्वारा अस्वीकार किए जाने और गुलाम के रूप में बेचने के माध्यम से जाना पड़ता है और फिर उठा लिया जाता है। अभिषेक का दोहरा हिस्सा पाने तक अलीशा को एलिया की सेवा अपने हाथ धोने वाले के रूप में करनी है। हम सभी अपने जीवन में किसी न किसी आग से गुजर रहे हैं लेकिन जानते हैं कि इस के माध्यम से परमेश्वर गुजर रहे है …
१/ यह दर्शाता है की वह अस्तित्व में है और वही है जो तुम्हे बचाएगा।
२/वह आपको अपने क्रूस को सहने के योग्य बनाएगा और ठीक उसी तरह से पार करेगा जैसा यीशु उसके पुत्र ने किया था।
३/आप सभी के माध्यम से आशीषित हो जाए कि आप जान सकें कि आप जीवित परमेश्वर से प्रार्थना करते हैं जो आपके दर्द को देखता है जो आपके जंगल में आपके लिए रास्ता बनाता है और जो आपको जीत के माध्यम से लाने के लिए आपसे पहले जाता है। आमेन!
हम हर दिन बहुत सारे लोगों से जुड़ते हैं, हमारे दोस्त हमारे रिश्तेदार हमारे परिचित होते हैं लेकिन क्या हम परमेश्वर से जुड़ना महत्वपूर्ण समझते हैं ??
अगर हम इस समय में अपने परमेश्वर के साथ नहीं जुड़ते हैं तो कौन सा समय हमारे लिए उचित होगा ?? हमें बहाने बनाना बंद करना होगा और इसे हासिल करने के लिए आत्मा में खड़े होना होगा।
यदि आप अपने निर्माता के साथ समय बिताने के लिए इस दिन के लिए एक प्रतिबद्धता बनाते हैं, तो सुनिश्चित करें कि जब समय आएगा, यीशु सभी स्वर्गदूतों के सामने परमेश्वर के सिंहासन पर से कहेंगे ओह हाँ यह आपका बच्चा है जो स्थायी हो गया है और मेमने के लहू के द्वारा विजयी होकर आया है।
आप उनके द्वारा स्वीकार किए जाएंगे जिन्होंने आपको इन सभी वर्षों में जंगल में ले जाकर सभी वादों और धन और वादों के गौरव के साथ आपको स्वर्ग पहुंचाने के लिए प्रेरित किया।

आइए हम इस दिन परमेश्वर की उपस्थिति में दृढ़ संकल्प करें और प्रार्थना करें कि हम अपने लिए नहीं बल्कि अपने जीवन में परमेश्वर की इच्छा को पूरा करने के लिए कहें। अगर हम हर दिन ऐसा कर सकते हैं, तो परमेश्वर हमारे जीवन में काम करने जा रहा है, ताकि हम अपनी आत्मा का निर्माण कर सकें और उन सभी खूबसूरत वादों और वचनों को ला सकें, जो हमारे लिए जीवन की किताब में हर एक के लिए लिखे गए हैं!

आमेन

प्रार्थना: मरकुस १४:३८

प्रभु मैं आपके पुत्र यीशु के नाम से प्रार्थना करता हूं कि सत्य और ज्ञान और समझदारी का वचन आपके लोगों को दिया जाए कि वे आपकी वाणी पर ध्यान दें और आपकी पवित्र इच्छा को पूरा करने के लिए आत्मा में एकजुट रहें और इसे जीत में पहले से ही तैयार रखें जो स्वर्ग में हमारे पिता द्वारा हमारे लिए रखी है।
आमेन और आमेन

आज प्रभु आशीष करे और हमारे उद्धारकर्ता प्रभु यीशु के सारे वायदे में प्रवेश करे। आमेन ।

प्रभु आशिषित करे
पासवान ओवेन

मत्ती-४:४ – उस ने उत्तर दिया; कि लिखा है कि मनुष्य केवल रोटी ही से नहीं, परन्तु हर एक वचन से जो परमेश्वर के मुख से निकलता है जीवित रहेगा

Psalm 91 Book

समर्पण थोरात


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *