यूहन्ना- ११:१-४४

yuhanna 11
Spread the love

यूहन्ना- ११:१-४४

स्वर्ग से रोटी आज का भविष्यवाणी वचन यूहन्ना- ११:१-४४

Psalm 91

आज का वचन यूहन्ना ११ से सभी मानव जाति के लिए आशा और उद्धार का संदेश है।
सच कहें तो; इस ग्रह का हर आदमी मरने से डरता है।

प्रश्न – मौत के इस भय को क्या दूर ले जा सकते हैं?

उत्तर – परमेश्वर के पुत्र में आपका विश्वास ही एकमात्र ऐसी चीज है जो आपको मृत्यु से बचाए रखेगी। हालांकि आप मरने के बाद भी आप जी सकते हैं यदि आप उसमे है तोह।और यूहन्ना का यह अध्याय उन सभी के लिए एक खुला निमंत्रण है जो इसे पढ़ने के लिए देखते हैं और अपने स्वयं के ह्रदयों के साथ विश्वास करते हैं कि परमेश्वर की सर्वोच्च शक्ति उन सभी लोगों के लिए काम करती है जो उनके पुत्र यीशु मसीह पर विश्वास करते हैं

yuhanna 11
yuhanna 11

यीशु ने २५ वे वचन मे घोषित किया है की, *”पुनरुत्थान और जीवन मैं ही हूं, जो कोई मुझ पर विश्वास करता है वह यदि मर भी जाए, तौभी जीएगा।
क्या आप इस पर विश्वास करते है?”*

यह एक खुले अंत का प्रश्न है जो प्रभु द्वारा प्रत्येक धड़कते हुए हृदय से पूछा जाता है कि वह आने वाले एक निमंत्रण को देखें और विश्वास करें कि जो आपको मृत्यु में भी बचाने में सक्षम है!

यीशु ही एक ऐसा नाम है जो हमें स्वर्ग के नीचे दिया गया है जिसके माध्यम से हम न केवल इस जीवन में बल्कि मृत्यु के बाद भी बच सकते हैं। उन्होंने अपने दोस्त लाजर को मृतकों से वापस लाने के इस चमत्कार के माध्यम से इसे साबित किया। परमेश्वर आज आपसे बोल रहे है। यदि आप उस पर पूरी तरह से भरोसा करेंगे, तो वह आपको आगे लाएंगे, जैसे वह लाजर को कब्र से बाहर लाए थे।

परमेश्वर आज किसी से बात कर रहे हैं इस संदेश के माध्यम से आप जो अपने हृदय में विश्वास करते हैं और ठंडे हो गए हैं अब परमेश्वर आपसे बोल रहा है। वह आपके भीतर अपनी आत्मा को पुनर्जीवित कर रहा है ताकि वह सभी जीवन के स्रोत पर विश्वास कर सके। वह आपको जीवित करने के लिए अपने स्वयं के जीवन की गवाही में खड़े होने के लिए पुनर्जीवित कर रहा है और आप पर उसकी दया और करुणा की घोषणा करता है। मुझे नहीं पता, लेकिन प्रभु आज आपसे इस व्यक्ति से बात कर रहे हैं, जो आशा के इस वचन को पढ़ रहे हैं, जानते हैं कि प्रभु आपका परमेश्वर एक जीवित परमेश्वर है और वह आपको आपकी सभी परेशानियों से मुक्ति दिलाएगा।
आमेन

जैसा कि आप मानते थे और अतीत में चले गए थे, अब इस दिन चलें और प्रभु यीशु में अपने विश्वास को नवीनीकृत करें, जो था, जो है, और जो आने वाला है और आप जीवित भूमि में उसकी महिमा देखेंगे। प्रभु आपकी आत्मा में आपके लिए पहुँच रहा है, आपके जीवन में उसकी उपस्थिति को स्वीकार करना है, हालांकि यह एक मोमबत्ती की तरह एक छोटी सी लौ है, लेकिन इसमें आपके सभी अविश्वासों और संदेहों को जलाने और आपको सच्चाई की उपस्थिति में सच में चलने के लिए स्वतंत्र करने की शक्ति है । जब आप पढ़ते हैं तो कोई पवित्र आत्मा प्राप्त कर रहा है और परमेश्वर आपको तब तक भरते रहते हैं जब तक आप उनकी उपस्थिति और प्रेम से भरे नहीं जा सकते। हालेलुया! आपकी सारी परेशानियां खत्म हो गईं,परमेश्वर कहते हैं कि आपके लिए उनके पवित्र नाम में उद्धार देखेंगे। और यह आपको प्रकाश में लाएगा यशायाह ६० अध्याय वचन १ और २ परमेश्वर आपसे बात कर रहे है …. इसे पढ़ें और विश्वास करें कि परमेश्वर आपको कभी नहीं छोड़ेंगे और न ही आपको त्याग करेंगे, यीशु के नाम मे। आमेन

यह संदेश उन लोगों के लिए है कि जिन्हें प्रभु आत्मा में पुनर्जीवित कर रहे हैं, जिन्हें उनके जीवन में उनके स्पर्श की आवश्यकता है। यह निश्चित रूप से आगे बढ़ेगा और उस कार्य को पूरा करेगा जिसे प्रभु ने करने के लिए निर्धारित किया है और खाली वापस नहीं आएगा। यह प्रभु का बोला गया वचन है इसे आनंद के साथ और अपेक्षा के साथ प्राप्त करें क्योंकि प्रभु आपका परमेश्वर आपके लिए एक सफलता और आपके लिए आशिष का कारण बन रहा है। आमेन

प्रार्थना यूहन्ना- ११:१-४४

स्वर्गीय पिता मैं इस दिन का धन्यवाद करता हूं कि आप सभी चीजों को जानते हैं और मैं आपके महिमामय वचन के लिए धन्यवाद करता हूं कि आपने अपने लोगों के जीवन पर बंधन की जंजीरों को तोड़ने के लिए यह दिन प्रदान किया है। इस वचन को खुशी में और जीवन में इसकी पूर्ति की उम्मीद में प्राप्त करें जिसे आप स्पर्श करना चाहते हैं। जैसा कि वे पढ़ते हैं और विश्वास में खड़े रहते हैं, हो सकता है कि पवित्र आत्मा का चलना उनके जीवन और स्थितियों में उनकी मृत्यु की स्थितियों से उन्हें फिर से जीवित करने के लिए हो, क्योंकि आप पुनरुत्थान और जीवन हैं, जो भी आप पर विश्वास करता है वह हमेशा के लिए जीवित रहेगा। तुम्हारे लिए यीशु नाम में हमेशा के लिए सामर्थ और महिमा है।
आमेन ! और आमेन !

मुझे विश्वास है कि आज परमेश्वर ने उनके वचन और उनकी पवित्र आत्मा को आपके जीवन में काम करने के लिए भेजा है। निश्चित रूप से यह वचन किसी ऐसे व्यक्ति के लिए है जो आज इस संदेश को पढ़ता है कि वह जो अपना जीवन देता है वह आपको अपने महिमामय प्रकाश में बुलाएगा! आमेन
देखो आशिष आप के लिए आगे बढ़ गया है और कोई भी इसे रोक नही सकता है। आमेन!

प्रभु आशिषित करे
पासवान ओवेन

मत्ती-४:४ – उस ने उत्तर दिया; कि लिखा है कि मनुष्य केवल रोटी ही से नहीं, परन्तु हर एक वचन से जो परमेश्वर के मुख से निकलता है जीवित रहेगा


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *